gandi shayari messages in hindi

gandi shayari messages in hindi

मत चला नैनो से तीर,
मैं बाबा ना कोई पीर,
तू मेरी महारानी और, 
मै तेरी चूत का फकीर।

तुमने गुस्ताखी की आपको सज़ा भी मिलेगी,
आपने गांड मारी चूत मुफ्त मिलेगी।

बर्बाद करके उसने मुझसे पूछा,
"फिर मुझसे मोहब्बत करोगे?"
लहूलुहान था दिल मगर होंठों ने कहा, 
तेरी माँ की चूत।

रात को चलती रहती है लौड़े पे ऊँगलियाँ,
हाथो में किताब रखकर सोये जमाना गुजर गया.!

याद है वो सुहानी मुलाकात,
पहले हाथ मिलाया फिर दिल मिले,
फ़िर नंगे हुए और खूब हिले।

रंडी कबीरा को कहते हुए-
मेरी चुत है, मैं जितना भी चुड़वाऊं मुझे रोक सके ना कोय,
लंड लिए हैं बेहिसाब ताकि चुत का भोसड़ा होये,
चोदना है तो चोद कबीरा काहे को तू रोये,
तेरे जैसे बहुतों का लिया है पर कभी ना रंडीखाने होये।
कबीरा रंडी को कहता है:
फट्टा हुआ भोसड़ा देख
नाम उसका शांति था,
लेकिन बिस्तर पे चिल्लाती थी।

क्यों न आज लंड को फिर बेवकूफ बनाया जाए,
नंगी फिल्मे देख कर शिद्दत से लंड हिलाया जाये।

मिली बहुत सजा उनसे दिल लगाने की,
नज़र लग गयी हमारे प्यार को ज़माने की,
क़ब्र से निकले हुए दोनों हाथ कहते हैं,
बस आरज़ू रह गयी उसकी चूचियाँ दबाने की।

अर्ज़ किया है-
गांड मरवाने से किसी की मौत नहीं होती ग़ालिब,
वाह वाह, 
गांड मरवाने से किसी की मौत नहीं होती ग़ालिब,
सिर्फ चलने का अंदाज़ बदल जाता है।

कोशिश जब भी करता हूं उसको भुलाने के लिए,
वो चूत खोल के चली आती है मुझे मनाने के लिए।

ना जाने किन रैन बसेरो की तलाश है इस लण्ड को,
रात भर खड़ा रहता है भोसड़ी का।

आज तू भूल ही चुकी है मुझे,
तो इतना याद रखना मादरचोद!
ये तो प्यार का भ्रम था वरना,
इतना चोदता की घर तक बच्चे देते हुए जाती!

आँख ने काजल लगाया तो चूत रोने लगी,
आँख ने पूछा, बहन तुम क्यों रो रही हो ?
चूत ने कहा, देखेंगे तुझे और ठोकेंगे मुझे।

अर्ज़ किया है-
बिकता है गम हुस्न के बाज़ार में,
लाखो लड़कियां चुद रही है एक ही बार में,
धोखे ही धोखे है हर तरफ प्यार में, 
लेकिन सूत्रो से पता चला है,
कमी नहीं आ रही है चुदाई की रफ़्तार में।

मुझसे उसकी हर गलती माफ हो जाती है,
जब वो मुस्कुरा कर पूछती है,
चोदना है क्या...

अगर सारा जहान मेरा होता, फिर भी मैं तेरा होता;
और अगर मैं 13 होता, तो तुम्हें जरुर 14 होता!

ग़ालिब की याद में शेर अर्ज़ है-
जैसे बुंदी के लड्डु कभी पेड़े नहीं होते,
ऐसे ही मुठ मारने से कभी लंड टेढ़े नहीं होते।

आज का अश्लील ज्ञान - 
हर दूसरे दिन चूत मारतें रहें ,
वरना लौड़े को वहम हो जाता है कि मेरा मालिक बूढ़ा तो नही हो गया ।

रंगीन हो जायेगी हर वो शाम,
जब दाबेंगे पड़ोसन के पिलपिले वो दो आम।

एक बड़े शायर ने अर्ज़ किया है - 
इधर ना मिला भोसड़ा उधर ना मिली चूत,
तो दुनिया में क्या सिर्फ हिलाने आये थे माँ के पूत।

ना मांगू मैगी, ना मांगू पास्ता,
कोई चुत ही दीला दो रे,
आप को आपके लन्ड का वास्ता।

लड़की ने जब चुदवाने से मना कर दिया 
तो गुस्साये हुए लड़के ने कहा....
खुद ही हिला लुँगा अपना साँप,
बहन की लौड़ी तु अपना रास्ता नाप..

भरी जवानी और तुम्हारा वियोग ,
एक हाथ का सहारा और पोर्न सम्भोग।

करलो दुनिया मुट्ठी में,
मुट्ठी मारो छुट्टी में!

पता है उसको उनके हुस्न पर घमंड था,
मैंने तोड़ा अब उसके मुंह में मेरा लंड था।

प्यार इतना सच्चा है की तेरे ना को भी हाँ बना दूंगा..
तू बस इशारा दे दे, तुझे एक झटके में माँ बना दूंगा।

गलती तो सारी हमारी ही थी जो इश्क कर बैठे,
वरना हमारे एक दोस्त ने हमे पहले ही कहा था,
भाई चुदाई वुदाई करके छोड़ देना.

मुद्दत से थी उसकी लेने की आस,
दीदार-ए-चुत को दिल में दबा दिया,
किसी ने दी खबर उसके चुदने की,
रात को इतनी लगाई मुट्ठ की टोपा सूजा दिया।

उस लड़की का नाम भी कोमल है, 
जो बेड पे harder-harder चिल्लाती है।

एक लडकी ने एक लडके के ऊपर सुसु कर दिया,
फिर लडका अपनी मधुर आवाज़ में बोला कि
"ऐ चंचल शौक हसीना ये कैसी नादानी है?"
तो लडकी बोली कि 
आप जिसे देखने को तरसते हो
ये उसी झील का तो पानी है।

इन्सान की इच्छाएं भी अजीब है,
घर बड़ा चाहिए और चूत छोटी.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ