Looking For Anything Specific?

Shayari Short In Hindi - Hd Shayari

 

 Hindi Short Shayari - latest Shayari in Hindi

बिगाड़ के रख देती है ज़िन्दगी का चेहरा,

ए-मोहब्बत... तू बड़ी तेजाबी चीज़ है।


रोज़ रोज़ गिर कर भी मुकम्मल खड़ा हूँ,

ऐ मुश्किलों देखो मैं तुमसे कितना बड़ा हूँ।


दुनिया फ़रेब करके हुनरमंद हो गई,

हम ऐतबार करके गुनाहगार हो गए।


गिरना था जो आपको तो सौ मक़ाम थे,

ये क्या किया कि निगाहों से गिर गए।


तलब करें तो मैं अपनी आँखें भी उन्हें दे दूँ,

मगर ये लोग मेरी आँखों के ख्वाब माँगते हैं।


भरे बाजार से अक्सर मैं खाली हाथ आया हूँ,

कभी ख्वाहिश नहीं होती कभी पैसे नहीं होते


नींद चुराने वाले पूछते हैं सोते क्यों नही,

इतनी ही फिक्र है तो फिर हमारे होते क्यों नही।


जिद में आकर उनसे ताल्लुक तोड़ लिया हमने,

अब सुकून उनको नहीं और बेकरार हम भी हैं।


उनके देखने से जो आ जाती है चेहरे पर रौनक,

वो समझते हैं कि बीमार का हाल अच्छा है।


हैं और भी दुनिया में सुखन-वर बहुत अच्छे,

कहते हैं कि ग़ालिब का है अंदाज़-ए-बयाँ और।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ