Tuta Dil Shayari - dil Tuta Hua Shayari

 Tuta Dil Shayari - dil Tuta Hua Shayari

होंठों की हँसी को न समझ हकीक़त-ए-जिंदगी,

दिल में उतर के देख कितने टूटे हुए हैं हम।

Honthhon Ki Hansi Ko Na Samajh Hakiqat-e-Zindagi,

Dil Mein Utar Ke Dekh Kitne Toote Hue Hain Hum


बड़ी शिद्दत से तोड़ा है मेरे दिल का हर कोना,

मुझे तो सच कहूँ उस के हुनर पे नाज़ होता है।

Badi Shiddat Se Toda Hai Mere Dil Ka Har Kona,

Mujhe To Sach Kahoon Uske Hunar Pe Naaz Hota Hai.

Toota Dil Shayari in Hindi

जब प्यार ही नहीं है तो भुला क्यों नहीं देते,

खत किसलिए रखे हैं जला क्यों नहीं देते,

किस वास्ते लिखा है हथेली पे मेरा नाम,

मैं हर्फ़ गलत हूँ तो मिटा क्यों नहीं देते।

Jab Pyar Hi Nahi Hai To Bhula Kyun Nahi Dete,

Khat Kis Liye Rakhe Hain Jala Kyun Nahi Dete,

Kis Vaaste Likha Hai Hatheli Pe Mera Naam,

Main Harf Galat Hun To Mita Kyun Nahi Dete.


मुझको तो होश नहीं तुमको खबर हो शायद,

लोग कहते हैं कि तुमने मुझे बर्बाद कर दिया।

Mujhko To Hosh Nahi Tumko Khabar Ho Shayad,

Log Kehte Hain Ke Tumne Mujhe Barbad Kar Diya

Dil Tuta Shayari In Hindi

दिल तोड़ने के बाद दिल का दर्द तुम क्या जानो

इस ज़माने मैं प्यार के रिवाज़ों को तुम क्या जानो,

होती है कितनी तकलीफ दिल टूटने के बाद

ये तुम क्या जानो ।।

Dil toodne ke baad dil ka Dard tum kya jano,

Ish zamane mai pyar ke riwazo ko,

Tum kya jano, hoti hai kitani taqleef dil,

Tutane ke baad ye tum kya jaao....


दिलो जान से कुर्बान थे उन पर,

ख्वाबो मैं सही मगर पूरा हक था उनपर।।

Dilo jaan se kurbaan the un par,

Kahwabo mai Sahi Magar pura haq tha unpar...


महफ़िल में उसके, तन्हाई में मेरे,कभी उसने मुझे याद नहीं किया.साँसों में चलती है वो मेरे हर पल,पर उसने कभी इसको महसूस नहीं किया !

Tuta Hua Dil Ki Shayari 

Mujhe Nahi Pata Ke Ye Bigad Gaya Ya Sudhar Gaya,

Bas Ab Ye Dil Kisi Se Mohabbat Nahi Karta.

मुझे नहीं पता के ये बिगड़ गया या सुधर गया,

बस अब ये दिल किसी से मोहब्बत नहीं करता।


Kabhi Patthar Kaha Gaya Toh Kabhi Sheesha Kaha Gaya,

Dil Jaisi Ek Cheej Ko Kya Kya Kaha Gaya.

कभी पत्थर कहा गया तो कभी शीशा कहा गया,

दिल जैसी एक चीज़ को क्या-क्या कहा गया।

Dil Tuta shayari

Lakhon Mein Intekhab Ke Kabil Bana Diya,

Jis Dil Ko Tumne Dekh Liya Dil Bana Diya,

Pehle Kahan Yeh Naaj The Yeh Ishwa-o-Adaa,

Dil Ko Duaayein Do Tumhein Qatil Bana Diya.

लाखों में इंतिख़ाब के क़ाबिल बना दिया,

जिस दिल को तुमने देख लिया दिल बना दिया,

पहले कहाँ ये नाज़ थे ये इश्वा-ओ-अदा,

दिल को दुआएँ दो तुम्हें क़ातिल बना दिया।


Dil Jo Toota Hai To Haath Dua Ke Liye Uthe

Aise Mahol Mein Kis Kis Ko Paraaya Samjhun

दिल जो टूटा है तो हाथ दुआ के लिए उठे

ऐसे माहोल में किस किस को पराया समझूँ

Shayari Di Tuta

Hua Hai Tujhse Bichadne Ke Baad Maaloom

Ke Tu Nahin Tha Bas, Tere Saath Poori Dunya Thi Meri

हुआ है तुझसे बिछड़ने के बाद मालूम

के तू नहीं था बस, तेरे साथ पूरी दुन्या थी मेरी


Kyon Uljhe Ho In Sawaalon Mein

Bewafa Tum Nahin To Ham Hi Sahi

क्यों उलझे हो इन सवालों में

बेवफा तुम नहीं तो हम ही सही


Tum Ne Pucha Ke Kaise Ho Tum

Tum Kabhi Bhool Na Pao Gy Aise Hain Ham

तुम ने पूछा के कैसे हो तुम

तुम कभी भूल न पाओ गय ऐसे हैं हम


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ