Looking For Anything Specific?

Waqt shayari, status & quotes in hindi | वक्त शायरी

Waqt shayari, status & quotes in hindi | वक्त शायरी

Waqt shayari, status & quotes in hindi | वक्त शायरी

वक्त इशारा देता रहा और हम इत्तेफाक समझते रहे,

बस यूँही धोके खाते रहे, और इस्तेमाल होते रहे।।

_______________________________________________

वक़्त जब करवटें बदलता है, 

फ़ित्ना-ए-हश्र साथ चलता है।।

- अनवर साबरी

_______________________________________________

उलझ गया था तुम्हारे दुपट्टे का कोना मेरी घड़ी से,

वक्त तब से जो रुका है जो अब तक रुका ही पड़ा है।।

_______________________________________________

ना हँसना किसी के बुरे वक्त पे दोस्तों,

ये वक्त है जनाब चेहरे याद रखता है।।

_______________________________________________

कभी वक्त निकाल के हमसे बातें करके देखना,

हम भी बहुत जल्दी बातों मे आ जाते है।।

_______________________________________________

बख़्शे हम भी न गए बख़्शे तुम भी न जाओगे

वक़्त जानता है हर चेहरे को बे-नक़ाब करना | ⏳

_______________________________________________

जब वक़्त करवट लेता है ना

तो बाज़ियां नहीं ज़िंदगीयाँ पलट जाती है

_______________________________________________

पैसा कमाने के लिए इतना वक़्त खर्च ना करो की

पैसा खर्च करने के लिए ज़िंदगी में वक़्त ही न मिले | ⏳

_______________________________________________

ख्वाहिश इतनी है बस कि

कुछ ऐसा मेरा नसीब हो…

वक्त अच्छा हो या बुरा

बस तू मेरे करीब हो..

❤️❤️❤️🌹🌹💯


Khvaahish itanee hai bas ki

Kuchh aisa mera naseeb ho…

Waqt achchha ho ya bura

Bas tu mere kareeb ho..

_______________________________________________

वक्त कितना भी बदल जाए….

मेरी मोहब्बत कभी नही बदलेगी..!!❤️


Vakt kitana bhee badal jae….

Meree mohabbat kabhee nahee badalegee..!!❤

_______________________________________________

सिर्फ़ दो ही वक्त पर तुम्हारा साथ चाहिए,

एक तो अभी और एक हमेशा के लिए.!! 😘


Sirf do hee vakt par tumhaara saath chaahie,

Ek to abhee aur ek hamesha ke lie.!! 😘

_______________________________________________

zindagi me waqt dhalte dekha hai |

maine apno ko badalte dekha hai ||

bharose ke sath khelte dekha hai |

mene gero ko badalte dekha hai ||

musibat me sahara dete dekha hai..!!!

_______________________________________________

Wo waqt bhi behad khas hota hai

jab sar par mata pita ka haath hota hai

_______________________________________________

kisi ke waqt ko pyar nahi milta

kisi ke pyar ke ko waqt nahi milta

khafa tujh se nahi is waqt se hai ham

jo mere liye tujhe ek baar nahi milta

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ