Kalam Meri Aur Kya Karegi, 2 लाइन्स शायरी

 Kalam Meri Aur Kya Karegi, 2 लाइन्स शायरी इन हिंदी

Kalam Meri Aur Kya Karegi

Mere Chehre Ki Udasiyan Bayaa Karegi

कलम मेरी और क्या करेगी

मेरे चेहरे की उदासियाँ बयां करेगी

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ